Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

लाडनूं में भूमाफियाओं की पौबारह- बेखौफ कर रहे कब्जा और जनता में भय व्याप्त, मंदिरों और कब्रिस्तानों की जमीनें भी नहीं बख्सी, प्लाॅट काटे, बेचे और मकान बनवाए, पानी-बिजली के कनेक्शन भी जारी

लाडनूं में भूमाफियाओं की पौबारह- बेखौफ कर रहे कब्जा और जनता में भय व्याप्त,

मंदिरों और कब्रिस्तानों की जमीनें भी नहीं बख्सी, प्लाॅट काटे, बेचे और मकान बनवाए, पानी-बिजली के कनेक्शन भी जारी

लाडनूं (kalamkala.in)। लाडनूं में भूमाफिया व बदमाश लोगों द्वारा कृषि भूमि व सरकारी जमीनों के साथ ही अब मंदिरों, दरगाह व कब्रिस्तान की जमीनों पर भी गिद्धदृष्टि डाल कर उन्हें नोंचना-खोंसना शुरू कर दिया गया है। इसे लेकर यहां लोगों में खौफ है और कोई बोलने का साहस नहीं कर पा रहा है। इस सम्बंध में स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता मो. मुश्ताक खां कायमखानी ने डोली बनाम रामदेवरा मंदिर माफी भूमि में गैर कानूनी तरीके से कि गई प्लाटिंग पर बसाई गई कालोनी को हटाने तथा इस मंदिर माफी की भूमि को खुर्द-बुर्द करने वाले भूमाफियाओ के खिलाफ उच्चस्तरीय कानूनी कार्रवाई कराने और साथ ही दरगाह उमराव शहीद गाजी सरकार की बेशकीमती करोड़ों रुपए की जमीन पर गैर कानूनी तरीके से किये गये अतिक्रमण कब्जा को तुरंत प्रभाव से हटाने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

बेचा जा रहा है सार्वजनिक रामदेवरा मंदिर की खसरा नं. 742 और 689 की भूमि

पत्र में उन्होंने बताया है कि विश्वनाथपुरा रोड, वार्ड नं 1 शहरिया बास स्थित डोली बनाम रामदेवरा मंदिर माफी भूमि खसरा नं. 742 और 689, जो सार्वजनिक मंदिर की भूमि है, पर गैर कानूनी तरीके से आदतन अपराधी और भूमाफियाओं ने मिलकर आवासीय कालोनी बसाने के लिए प्लाटिंग कर और इसे अपनी निजी संपत्ति बताते हुए गरीब और भोले-भाले लोगों को अपने जाल में फंसा कर प्लाॅट बेच रहे हैं। प्रशासनिक लापरवाही, अनदेखी और मिलीभगत के चलते वहां पर उनके द्वारा बेचे हुए प्लाटों पर एक बड़ी कालोनी बस चुकी है। साथ ही फर्जी तरीको से एवं जाली दस्तावेजों से  उन भूखंडों व अवैध मकानों में पानी और बिजली के कनेक्शन भी ले लिए गए हैं।

मुख्यमंत्री से संज्ञान लेने की मांग

मुश्ताक खां ने मांग की है कि मुख्यमंत्री स्वयं इस मामले में संज्ञान लेते हुए इस मंदिर माफी भूमि पर बसे लोगों को इन भूमाफियाओं के जाले से मुक्त करवाया जाए तथा उनसे खरीदी गई जमीन और मकानों का पैसा वापस ब्याज सहित दिलवाया जावे। इसके बाद इस मंदिर माफी भूमि पर बसाई गई अवैध कालोनी को प्रशासन द्वारा तुरंत हटवाया जाए। इसके अलावा यह कारस्तानी रचने वाले इन भूमाफियाओं पर भी नियमानुसार उच्चस्तरीय कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए। कायमखानी ने शहर में पनप रहे भूमाफियाओं पर लगाम लगाई जाने को आवश्यक बताया हैं।

कब्रिस्तान की बेशकीमती जमीन भी हथियाई

कायमखानी ने इस मंदिर माफी भूमि के अलावा लाडनूं के सरकारी होस्पीटल रोड़ स्थित दरगाह उमराव शहीद गाजी सरकार की बेशकीमती करोड़ों रुपयों की कब्रिस्तान की भूमि खसरा नंबर 1138 पर गैर कानूनी तरीके से दरगाह कमेटी के अध्यक्ष के साथ आपसी मिलीभगत कर कब्जा करके समस्त मुसलमानों की भावनाओं को आहत किया जा रहा है। प्रशासनिक अनदेखी और लापरवाही के कारण यहां हिस्ट्रीशीटरों व भूमाफियाओं को प्रोत्साहन मिल रहा है। सरकारी जमीनों के बाद अब वे मंदिरों व कब्रिस्तानों की जमीनों को भी नहीं बख्स रहे हैं। इस कारण यहां लोगों में खौफ बढता जा रहा है और कानून व व्यवस्था की स्थिति का खुला मजाक उड़ाया जा रहा है। जिला कलेक्टर, तत्कालीन राजस्थान बोर्ड आफ मुस्लिम वक्फस के अध्यक्ष खानू खां बुधवाली और अल्पसंख्यक मामलात विभाग के मंत्री शाले मोहम्मद तक की गई शिकायतों के बावजद हिस्ट्रीशीटर और उसके परिवार के लोगों की प्रशासन के साथ मिलीभगत के चलते कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस मामले में मुख्यमंत्री से संज्ञान लेकर त्वरित व सक्षम कार्रवाई की मांग की गई है।
kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

प्रदेश का सबसे शोषित वर्ग है पत्रकार, सरकार की पूरी उपेक्षा का है शिकार, अधिस्वीकरण पर पैसे वालों का अधिकार, सब सुविधाओं से वंचित हैं सात हजार पत्रकार, आईएफडब्ल्यूजे के प्रदेशाध्यक्ष उपेन्द्र सिंह ने बयां की हकीकत 

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy