Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

लाडनूं की प्रमुख रेल सुविधाओं व ट्रेनों की मांगों को रेलमंत्री सहित रेलवे के उच्चाधिकारियों तक उठाया, प्रभात वर्मा ने सतत सक्रिय रह कर लाडनूं रेलवे स्टेश को अमृत भारत योजना में शामिल करवाने, लिफ्ट लगवाने, एक नया गेट खुलवाने सहित नई ट्रेनों, विस्तार व फेर बढाने की मांगों को दी प्रमुखता

लाडनूं की प्रमुख रेल सुविधाओं व ट्रेनों की मांगों को रेलमंत्री सहित रेलवे के उच्चाधिकारियों तक उठाया,

प्रभात वर्मा ने सतत सक्रिय रह कर लाडनूं रेलवे स्टेश को अमृत भारत योजना में शामिल करवाने, लिफ्ट लगवाने, एक नया गेट खुलवाने सहित नई ट्रेनों, विस्तार व फेर बढाने की मांगों को दी प्रमुखता

लाडनूं। रेल सेवाओं के लिए सतत संघर्षरत सामाजिक कार्यकर्ता प्रभात वर्मा ने रेल मंत्री सहित सभी सम्बंधित रेल अधिकारियों को पत्र लिख कर डेगाना-रतनगढ रेल मार्ग खंड और लाडनूं के रेलवे विकास की मांग करते हुए विभिन्न मांगें उठाई है। इनमें ट्रेनों के विस्तार, फरे बढाने, लाडनूं रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट की सुविधा करवाने, रेलवे स्टेशन के पश्चिम की तरफ एक प्रवेश व निकास गेट खुलवाने तथा लाडनूं को अमृत भारत स्टेशन योजना में चयनित करवाने की मांगें शामिल हैं।

छह नई रेल गाड़ियों के संचालन की मांग उठाई

प्रभात वर्मा के लिखे पत्रों के अनुसार उन्होंने रेलमंत्री से नई ट्रेनों के संचालन, ट्रेनों के विस्तार, ट्रेनों के फेरों में बढ़ोतरी और मूलभूत यात्री सुविधाओं के संबंध में की गई मांगों में नई ट्रेनों के संचालन के संबंध में मांग की गई है कि
1 गांधीधाम से कटरा वाया जोधपुर, डेगाना, छोटी खाटू, डीडवाना, सुजानगढ़, लाडनूं, रतनगढ़, चूरू, सादुलपुर, हिसार तक नई ट्रेन चलाई जावे।
2. जोधपुर से गोरखपुर वाया डेगाना, छोटी खाटू, डीडवाना, सुजानगढ़, लाडनूं, रतनगढ़, चूरू, दिल्ली के लिए नई ट्रेन हो।
3.  मेड़ता से बीकानेर वाया डेगाना, छोटी खाटू, डीडवाना, लाडनूं, सुजानगढ़, रतनगढ़, श्री डूंगरगढ़ की नई ट्रेन संचालित की जाए।
4.  श्री गंगानगर से जोधपुर वाया सादुलपुर, रतनगढ़, सुजानगढ़, लाडनूं, डीडवाना, छोटी खाटू डेगाना, मेड़ता रोड़ की नई ट्रेन चलाई जाए।
5. हिसार से बैंगलोर वाया सादुलपुर, रतनगढ़, सुजानगढ़, लाडनूं, डीडवाना, छोटी खाटू, डेगाना, जोधपुर, समदड़ी, भीलड़ी के लिए नई ट्रेन संचालित हो।
6. हिसार से चेन्नई वाया सादुलपुर, रतनगढ़, सुजानगढ़, लाडनूं, डीडवाना, छोटी खाटू, डेगाना, जोधपुर, भीलड़ी की नई ट्रेन हो।

ऋषिकेश तक बढाने सहित चार ट्रेनों का किया जाए विस्तार

इसके अलावा ट्रेनों के विस्तार के संबंध में वर्मा ने मांग की है कि-
1. ट्रेन संख्या 22481/22482 (जोधपुर-सरायरोहिल्ला) को ऋषिकेश तक बढाया जाए।
2. ट्रेन संख्या 22411/22412 (नाहरलागुन-आनंद विहार टर्मिनस का जोधपुर तक विस्तार हो।
3 ट्रेन संख्या 22421/22422 ( जोधपुर- सराय रोहिल्ला) सालासर एकसप्रेस का गांधीधाम तक विस्तार किया जाए।
4. ट्रेन संख्या 14009/14010 (बापूधाम मोतिहारी-आनंद विहार टर्मिनस को जोधपुर तक बढाई जावे।
इनमें जोधपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली ट्रेन संख्या 22481/22482 को हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश तक बढ़ाने संबंधी पत्र में उन्होंने अलग से मांग उठाई है। इसमें बताया है कि जोधपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली ट्रेन संख्या 22481/22482 को हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश तक बढ़ाने संबंधी प्रस्ताव को बैंगलोर में हुए अंतर रेलवे समय सारणी की मीटिंग में स्वीकृति दी गई थी। दिल्ली-जोधपुर सुपरफास्ट इस ट्रेन नंबर 22481/22482 को ऋषिकेश तक विस्तार शीघ्र किया जाए। अभी सादुलपुर, चूरू, रतनगढ़, सुजानगढ़, लाडनूं, डीडवाना, बड़ी खाटू व डेगाना से हरिद्वार व ऋषिकेश जाने का कोई सीधा साधन नही है। इस क्षेत्र से बड़ी  संख्या में लोग हरिद्वार अपने धार्मिक कार्यो के लिए जाते रहते हैं, उनके लिए कोई सीधी ट्रेन का साधन उनके स्टेशनों से नहीं है। इस ट्रेन के विस्तार होने से लोगों को आवागमन की सुविधा होगी। हरिद्वार व ऋषिकेश हिन्दुओं के पवित्र धार्मिक स्थान है, जहां बड़ी संख्या में लोग धार्मिक पर्यटन भी करते हैं। इसलिए दिल्ली से जोधपुर सुपरफास्ट को ऋषिकेश विस्तार करने की हरी झंडी दिखाई जाए।

इन दो ट्रेनों के फेरे बढाए जाएं

प्रभात वर्मा ने ट्रेनों के फेरों में बढ़ोतरी की जाने बाबत इन ट्रेनों के लिए लिखा है-
1. ट्रेन संख्या 19027/19028 (बान्द्रा-जम्मूतवी विवेक एक्सप्रेस) को सप्ताह में एक दिन की बजाय 7 दिन चलाया जाए।
2. ट्रेन संख्या 22915/22916 (बान्द्रा-हिसार) को सप्ताह में एक दिन की बजाय 7 दिन चलाया जाए।

लाडनूं में दोनो प्लेटफार्म पर लिफ्ट लगवाने की मांग उठाई

रेलवे की मूलभूत यात्री सुविधाओं के संबंध में प्रभात वर्मा ने अपने पत्र में लाडनूं में प्रमुख रूप से लिफ्ट/एस्केलेटर की मांग उठाई है। उन्होंने लिखा है कि जयपुर, अजमेर, जोधपुर और बीकानेर डिवीजन के रेलवे स्टेशनों पर 2022 में 30 लिफ्ट स्वीकृत की गई हैं। लाडनूं रेलवे स्टेशन एनएसजी-3 से एनएसजी-6 श्रेणी को कवर करता है। लाडनूं रेलवे स्टेशन की व्यवहार्यता रिपोर्ट सकारात्मक है, फिर भी इसे लिफ्ट की सुविधा नहीं दी जानी आश्चर्यजनक है। यह बहुत दुखद है कि इसी तरह क एनएजी-5 और एनएसजी-6 श्रेणी के स्टेशनों को लिफ्ट की मंजूरी मिल गई, लेकिन लाडनूं को नहीं दी गई है। लाडनूं रेलवे स्टेशन पर दोनों प्लेटफार्मों पर लिफ्ट की सुविधा नहीं होने के कारण शारीरिक रूप से विकलांग, बुजुर्ग और महिला यात्रियों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। यहां की वास्तविक कठिनाई को देखते हुए और लाडनूं रेलवे स्टेशन की सकारात्मक व्यवहार्यता रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए लाडनूं रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट स्वीकृत कराई जानी आवश्यक है। वर्मा ने लिखा है कि झुंझुनू, खातीपुरा जैसे एनएसजी-6 स्टेशनों और डेगाना, रेण और डीडवाना के एनएसजी-5 रेलवे स्टेशनों पर लिफ्ट की अनुमति दी है। इसलिए लाडनूं रेलवे स्टेशन के साथ पक्षपात पूर्ण व्यवहार नहीं होना चाहिए और लाडनूं रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-1 और नंबर-2 पर दो लिफ्टों की स्वीकृति दी जाए।

25 गांवों को रेल सुविधा के लिए एक और गेट खोलने की मांग

डीआरएम जोधपुर के अंतर्गत आने वाले लाडनूं स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर 2 की तरफ 25 गांवों कस्बों से आने वाले पैसेंजर के आने जाने के लिए एंट्री एग्जिट गेट रखने के विषय में भी प्रभात वर्मा ने रेलवे को पत्र लिखा है। इसमें बताया है कि लाडनूं स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 2 पर दीवार का निर्माण किया  है। इस प्लेटफार्म की दूसरी तरफ मेगा हाईवे जुड़ा हुआ है, जिससे आसपास के प्रमुख गांव जसवंतगढ़ असोटा, पदमपुरा, डाबड़ी, कसम्बी, लेड़ी, धोलिया, रोडू सहित एक बड़ी आबादी रेलवे स्टेशन पर इस प्रमुख मार्ग से रेल स्टेशन से जुड़ी हुई है। प्लेटफार्म नंबर 2 के पूर्व दिशा में दीवार बनाते हुए यहां पर एक गेट की व्यवस्था की जाए, जिससे किसी क्षेत्र से आने वाले सैकड़ों यात्रियों को रेलवे स्टेशन से जुड़ने की सुविधा आसानी से मिल सके। इस दीवार को पूरी तरह से बंद कर दिया और आने-जाने का रास्ता नहीं रखा गया तो इस क्षेत्र के निवासी रेलवे स्टेशन का उपयोग करने में सदैव परेशानियों का सामना करेंगे। रेलवे ग्राम जसवंतगढ़ का हाल्ट स्टेशन पहले ही रेलवे बंद कर चुकी है। ऐसे में प्लेटफार्म नंबर 2 पर गेट नहीं होने से लाडनूं स्टेशन के उपयोग के लिए इस क्षेत्र के निवासियों को परेशानियां नहीं झेलनी पड़े।  अतः जन सुविधाओं को प्राथमिकता देते हुए प्लेटफार्म नंबर दो के पूर्व में बन रही दीवार पर मेगा हाईवे की तरफ गेट की व्यवस्था अवश्य करें।

लाडनूं रेलवे स्टेशन को अमृत भारत योजना में शामिल किया जाए

इसके अलावा सामाजिक कार्यकर्ता प्रभात वर्मा ने लाडनूं रेलवे स्टेशन को अमृत भारत योजना के तहत चयनित करने की मांग भी की है। उन्होंने लिखा है कि लाडनूं रेलवे स्टेशन डीआरएम जोधपुर के अधीन आता है। एनडब्ल्यूआर ने अमृत भारत स्टेशन योजना में चयनित रेलवे स्टेशनों की सूची बहुत पहले ही घोषित कर दी थी। लेकिन, लाडनूं-लाऊ स्टेशन को इस योजना में नहीं चुना गया। लाडनूं रेलवे स्टेशन पर बहुत सारे विकास कार्य होने चाहिएं, जैसे प्रतीक्षालय, विश्राम कक्ष, बैंक एटीएम, पुराने रेलवे फाटक के पास एक और फुटओवर ब्रिज, लिफ्ट सुविधा, आर.ओ. पानी की सुविधा और नया स्टेशन भवन। चूंकि अमृत भारत स्टेशन योजना (अमृत भारत योजना) में समान क्षमता वाले रेलवे स्टेशनों का चयन किया गया है। इसलिए लाडनूं रेलवे स्टेशन को अमृत भारत स्टेशन योजना में शामिल किया जाए।
kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

केन्द्रीय केबिनेट मंत्री शेखावत का लाडनूं में भावभीना स्वागत-सम्मान, शेखावत ने सदैव लाडनूं का मान रखने का दिलाया भरोसा,  करणीसिंह, मंजीत पाल सिंह, जगदीश सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ता सुबह जल्दी ही रेलवे स्टेशन पर उमड़ पड़े

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy