Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

लाडनूं में नगर पालिका की बैठक 16 को, बैठक को लेकर हुए विवाद से पार्षदों में असमंजस

लाडनूं में नगर पालिका की बैठक 16 को, बैठक को लेकर हुए विवाद से पार्षदों में असमंजस

लाडनूं। नगर पालिका मंडल की लम्बे समय के अन्तराल के बाद अब 16 मई को दोपहर 2 बजे विशेष बैठक बुलाई गई है, लेकिन इस बैठक को लेकर विवाद सामने आ रहा है। इसकी सूचना जारी की जा चुकी है, लेकिन उसमें कोई विषय नहीं रखा गया है, जिससे एक पक्ष ने उसे अवैध बताया है और एजेंडा नियमानुसार जारी नहीं किए जाने को गलत बताया है। इस बैठक सूचना में बैइक की अध्यक्षता किसके द्वारा की जाएगी, इसे भी स्पष्ट नहीं किया गया है, जबकि आमतौर पर परम्परा रही है कि पालिकाध्यक्ष का नाम बैठक की अध्यक्षता के लिए सूचना में अंकित किया जाता रहा है। अब इस बारे में पालिकाध्यक्ष स्वायत शासन विभाग को लिखा जा रहा है। इससे ईओ व पालिकाध्यक्ष के बीच चल रहे विवाद के कारण इस बैठक को लेकर संशय बढ गया है। गौरतलब है कि यहां नगर पालिका की वार्षिक बजट बैठक तक नहीं बुलाई गई और पालिकाध्यक्ष ने इसके लिए लिखित आदेश दिए, फिर भी कोई बैठक नहंी बुलाई गई थी। अब ईओ ने कतिपय पार्षदों के आग्रह के नाम पर मंडल की विशेष बैठक आहूत की है, परन्तु पालिकाध्यक्ष ने इस पर कुछ सवाल खड़े किए हैं। पालिकाध्यक्ष रावत खां ने इस बैठक को नियमविरूद्ध बताते हुए इस सम्बंध में ईओ को नोटिस देकर 5 प्रश्नों के जवाब मांगे, परन्तु ईओ द्वारा उनका कोई जवाब नहीं दिया गया। पालिकाध्यक्ष ने अब ईओ द्वारा बिन्दुवार जानकारी नहीं दिए जाने की स्थिति में राज्य सरकार के उच्च अधिकारियों को अवगत करवाने का लिखा है। बैठक के लिए जारी सूचना पर पालिकाध्यक्ष रावत खां ने ईओ को पत्र देकर 5 बिन्दुओं की जानकारी चाही गई थी। इनमें पालिकाध्यक्ष ने ईओ से पूछा था कि बैठक किन नियमों के तहत बुलाई गई, इसके लिए अध्यक्ष की अनुमति या अनुमोदन क्यों नहीं लिया गया, बैठक को बुलाने से पूर्व अध्यक्ष से चर्चा क्यों नहीं की गई, बैठक बुलाने के लिए राजस्थान नगर पालिका अधिनियम के अन्तर्गत बने नियमों का पालन किया गया या नहीं तथा बैठक बुलाए जाने की सूचना किन-किन पार्षदों को दी जा चुकी है, यह सब स्पष्ट करने को लिखा गया था। इस बारे मंें पालिकाध्यक्ष ने बताया कि अगर ईओ कोई जवाब नहीं देगा, तो उसके बारे में स्वायत शासन विभाग को अवगत करवाया जाएगा।

kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

प्रदेश का सबसे शोषित वर्ग है पत्रकार, सरकार की पूरी उपेक्षा का है शिकार, अधिस्वीकरण पर पैसे वालों का अधिकार, सब सुविधाओं से वंचित हैं सात हजार पत्रकार, आईएफडब्ल्यूजे के प्रदेशाध्यक्ष उपेन्द्र सिंह ने बयां की हकीकत 

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy