Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

आंधी-तूफान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजे की मांग, भाजपा ने दिया मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन

आंधी-तूफान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजे की मांग, भाजपा ने दिया मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन

लाडनूं। भारतीय जनता पार्टी के तत्वावधान में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के नाम का एक ज्ञापन यहां तहसील के ग्राम सुनारी में आयोजित शिविर के दौरान उपखंड अधिकारी अनिल कुमार को देकर आंधी-तूफान की वजह से किसानों व आमजन को हुए नुकसान, गौशालाओं में हुए नुकसान के लिए मुआवजा दिए जाने तथा किसानों के कर्जों को माफ करने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। साथ ही आंदोलन की चेतावनी दी गई।

किसानों की फसलें, सिंचाई के सोलर पैनल, अनाज भंडारण, पशु आवास हुए नष्ट

ज्ञापन में लिखा गया है कि पिछले कुछ दिनों से प्रदेश भर में भयंकर अंधड तूफान की वजह से लाडनूं तहसील के किसानों और आमजन को भारी नुकसान पहुंचा है। किसानों की इस मौसम की फसल पूरी तरह से नष्ट हो चुकी है। कर्ज लेकर कई किसानों द्वारा सिंचाई के लिए लगाए गए सोलर पम्प सेट व पैनल तूफान से नष्ट हो चुके हैं। कई किसानों के खेतों में अनाज भण्डारण, स्वयं के और पशुओं के आवास पूर्ण रूप से नष्ट हो चुके हैं। इस स्थिति के कारण कई किसान आत्महत्या तक की सोचने लगे हैं। इस प्राकृतिक आपदा में गरीबों ने अपने रहने के आवास के लिए मेहनत करके टीन शेड से छाए मकान बुरी तरह से उजड़ गए हैं और आकाशीय बिजली गिरने से पशुधन को भी भारी नुकसान हुआ है।

गौशालाओं में हुआ भारी नुकसान

ज्ञापन के अनुसार कई गौशालाओं में गायें काल का ग्रास बन चुकी है। बची हुई गायों के लिए चारे का भंडारण भी नष्ट हो चुका है। आकाशीय वज्रपात से बड़ी संख्या में पेड़ों को नुकसान पहुंचने से सैंकड़ो पक्षी भी समाप्त हो गये हैं। ज्ञापन में बताया गया है कि साढ़े चार साल पहले आपकी पार्टी के शहजादे द्वारा दस गिनने तक किसानों का कर्ज माफ करने का वादा आपको याद दिलाना चाहेंगे, क्योंकि आपने कर्ज तो माफ नहीं किया उल्टा किसानों की जमीनें तक कुर्क करवा दी। अब आपसे मांग है कि इस विपत्ति की घड़ी में किसानों का कर्ज माफ करें एवं उन्हें उनकी फसल, आवास, पशुधन, सिंचाई और अनाज भंडारण से सम्बंधित हुए समस्त नुकसान की भरपाई के लिए उचित मुआवजा दिला कर राहत प्रदान करावें। यह मुआवजा अन्नदाता का अधिकार है, क्योंकि राज्य सरकार द्वारा पेट्रोल, बिजली, जल आपूर्ति पर कृषि सेस वसूली जाती है। जिस पर किसानों का हक है। जो गौसंवर्धन कर, स्टाम्प पर और मदिरा बिक्री के नेट पर कर वसूलती है एवं उसे गायों के लिए खर्च नहीं किया जाता है। इस प्राकृतिक आपदा के समय में वो पैसा गौमाता के लिए गौशालाओं को दिया जाए। प्रशासन की लापरवाही इतनी है कि विधानसभा के कई ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले पांच दिन से बिजली आपूर्ति नहीं हो रही है। पानी सप्लाई ठप्प पड़ी है। कर्मचारी महंगाई राहत शिविर रूपी धोखे में चले जाते हैं एवं अपने दैनिक कार्यों को पूरा किये बिना और किसी उचित जवाब दिए बिना छुटकारा पा जाते है। तुरंत प्रभाव से राहत प्रदान करवाने की मांग करते हुए ज्ञापन में अन्यथा भारतीय जनता पार्टी द्वारा इस मामले में आन्दोलन करने की चेतावनी दी गई है। इस ज्ञापन की प्रतियां जिला कलेक्टर व मुख्य शासन सचिव को भी भेजी गई है। ज्ञापन देने वालों में भाजपा जिलाध्यक्ष गजेन्द्र सिंह ओड़ींट, जिला उपाध्यक्ष नाथूराम कालेरा, नेमीचंद मेघवाल, प्रेमसुख, रामधन, हीरा, राजू  आदि मौजूद थे।
kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy