Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

लाडनूं में अवैध सम्बंधों के चलते पत्नी के साथ मिलकर आरोपी ने पति को किया आत्महत्या के लिए मजबूर, मुलजिम के खिलाफ कोर्ट ने चालान पर प्रसंज्ञान लेकर आरोपों के लिए पेशी दी, आरोपी की मृतक की पत्नी से 4 हजार से अधिक कॉल व करीब 250 मैसेजेस हुए

लाडनूं में अवैध सम्बंधों के चलते पत्नी के साथ मिलकर आरोपी ने पति को किया आत्महत्या के लिए मजबूर,

मुलजिम के खिलाफ कोर्ट ने चालान पर प्रसंज्ञान लेकर आरोपों के लिए पेशी दी,

आरोपी की मृतक की पत्नी से 4 हजार से अधिक कॉल व करीब 250 मैसेजेस हुए

लाडनूं। यहां के गांव सींवा में अवैध सम्बंधों के पति के समक्ष खुलासे के बाद मुलजिम ने पत्नी के साथ मिल कर षड्यंत्र रचा और फर्जी तरीके अपना कर पति के गलत सम्बंधों को प्रचारित करके उसे मानसिक रूप से परेशान किया और उसे अपनी जीवनलीला समाप्त करने को मजबूर कर दिया। इस मामले में लाडनूं तहसील के ग्राम सींवा के रहने वाले इस युवक की संदिग्ध मौत की पुलिस जांच में मामले में युवक को आत्महत्या करने के लिए प्रेरित करने का दोषी मानते हुए मृतक की पत्नी से अवैध सम्बंधों के कारण मुलजिमान द्वारा आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला बनने पर उसके खिलाफ न्यायालय में प्रस्तुत चालान में अपर जिला एवं सेशन न्यायालय डीडवाना ने मुलजिम रामस्वरूप के विरूद्ध धारा 306 आईपीसी के तहत प्रसंज्ञान लेने के बाद प्रकरण दर्ज करके आरोपों के लिए 22 जनवरी को पेशी देते हुए आरोपी रामस्वरूप की न्यायिक हिरासत की अवधि तब तक बढाई गई है।

अवैध सम्बंधों के चलते करवाई गई आत्महत्या

इस प्रकरण में 25 अगस्त 2023 को लाडनूं पुलिस थाना क्षेत्र के ग्राम सींवा निवासी मूलचन्द जांगीड (73) पुत्र गणेशा राम जाति जांगीड ने डीडवाना पुलिस को रिपोर्ट दी थी कि उनका पुत्र नवरतन (40) 21 जुलाई 2023 को सांय 5 बजे घर से बिना बताये निकल गया था, जो उस रात्रि घर नहीं आया, दूसरे दिन 22 जुलाई 2023 को सुबह 6.30 बजे पुलिस थाना डीडवाना से उसके पास फोन आया कि उनके पुत्र नवरतन की डेड बॉडी डीडवाना में लाडनूं रोड स्थित फ्लाईओवर के पास रेल्वे ट्रैक के पास पड़ी है। जब वे अपने परिवार के 4-5 व्यक्तियों के साथ घटनास्थल पर गये, तो वहां नवरतन का शव ट्रेन से कटा हुआ मिला। शव को पोस्टमार्टम करवाया गया। इस रिपोर्ट में संदेह जताया गया कि उनके पुत्र नवरतन की पत्नी संजू कुमारी जांगीड़ (जिसका पीहर धोलिया निवासी नथमल जांगिड़ के यहां है।) व गांव सींवा के ही रामस्वरूप पुत्र भागीरथ जांगीड के साथ करीब 4-5 वर्षों से अवैध सम्बन्ध थे। नवरतन ने संजू व रामस्वरूप को आपत्तिजनक स्थिति में रंगे हाथों भी पकड़ा था, तब उन दोनों ने परिवार के सामने माफी मांगते हुये आइन्दा ऐसी हरकत नहीं करने का भरोसा दिलवाया। इस घटना से उनका पुत्र नवरतन काफी आहत था। इधर आरोपी रामस्वरूप और संजू दोनों ने समाज के व्यक्तियों के समक्ष माफी मांगने से हुई अपनी बेईज्जती का बदला लेने के लिये आरोपी रामस्वरूप ने षडयन्त्र रचते हुये नवरतन की पत्नी संजू कुमारी को षडयन्त्र में शामिल करके नवरतन को मानसिक रूप से प्रताडित करने लगे। नवरतन के निजी ओडियो गांव के ग्रुप में समाज के मौजीज व्यक्तियों के मोबाइल में उन्होंने 19 जुलाई 2023 को भेज कर वायरल कर दिए। इससे नवरतन काफी आहत हुआ और मानसिक रूप से काफी परेशान रहने लगा। नवरतन की पत्नी संजू कुमारी व रामस्वरूप पुत्र भागीरथ दोनो उसे लगातार मानसिक रूप से तंग व परेशान करने लगे व आत्महत्या के लिए दबाव बनाने लगे। इससे वह डिप्रेशन में आ गया और परेशान होकर ट्रैन के नीचे आकर आत्महत्या कर ली। इस प्रकरण को डीडवाना पुलिस ने धारा 306 के तहत दर्ज करके जांच शुरू की।

गवाहों के अलावा मोबाईल काॅल्स, वायरल ऑडियो आदि से जुटाए साक्ष्य

प्रकरण के अनुसंधान में सभी संदिग्धों के मोबाइल नम्बरों की कॉल डिटेल प्राप्त कर उनकी जांच की गई। मृतक नवरतन जांगीड के मोबाइल नम्बर की तथा संदिग्ध मोबाइल नम्बरों की कॉल डिटेल्स प्राप्त होने पर उनका विश्लेषण किया गया। वायरल ओडियो के सम्बंध में भी मोबाईल जब्त किया गया। मृतक नवरतन जांगीड के बड़े भाई नन्दलाल जांगीड द्वारा प्रस्तुत पैन ड्राईव तथा सी.डी. में 35 ऑडियो रिकोर्डिगें थी, जिन्हें लेपटॉप से कनेक्ट कर सुना गया। प्रकरण में मुलजिम रामस्वरूप जांगीड (34) पुत्र भागीरथ राम जाति जांगीड निवासी सींवां (पुलिस थाना लाडनूं) में उसके विरूद्ध धारा 306 भादसं का अपराध साबित पाया गया। दो अन्य मोबाइल फोन व एक पैन ड्राईव में मृतक नवरतन जांगीड की कुल 40 ऑडियो रिकोर्डिंग भी बरामद की गई। प्रकरण में दूसरी मुलजिम श्रीमती संजू जांगिड़ (35) निवासी सींवां पुलिस थाना लाडनूं से भी विस्तृत जांच की गई।

अज्ञात महिला बन कर चैटिंग की और ऑडियों वायरल किया

पुलिस जांच के दौरान सामने आया कि इस प्रकरण में मृतक नवरतन जांगीड ने करीब 4-5 साल पहले अपनी पत्नी संजू कुमारी एवं मुल्जिम रामस्वरूप जांगीड को मृतक ने अपने ही मकान में आपत्तिजनक स्थिति में साथ में पकड़ा था। इस मामले में परिवार के सामने दोनों द्वारा माफी मांगे जाने से उस समय कोई पुलिस कार्रवाइ नहीं की गई। तत्पश्चात मृतक नवरतन जांगीड परेशान रहने लगा और वह नीन्द नहीं आने के कारण से इलाज ले रहा था। इधर मुलजिम रामस्वरूप मृतक व मृतक के परिवार से मन ही मन रंजिश रखने लगा। बाद में मृतक नवरतन की पत्नी संजू कुमारी व मुल्जिम रामस्वरूप जांगीड के आपसी प्रेमप्रसंग के कारण मृतक की पत्नी संजू कुमारी, मृतक के साथ आये दिन झगडा करने लगी। मुल्जिम रामस्वरूप जांगीड अपनी बेइज्जती का बदला लेने की फिराक में था। उसने मृतक को बदनाम करने का षड्यन्त्र रचा। मुल्जिम रामस्वरूप जांगीड अपनी डीडवाना स्थित मोबाईल ठीक करने की दुकान में मृतक की पुत्री का मोबाइल फोन ठीक करने के लिए 10 जुलाई 2023 को लिया और दुकान पर काम करने वाले मोईनुद्वीन शेख की मोबाइल सिम लेकर उस मोबाईल में डाल दी। उसकी सिम से मुल्जिम रामस्वरूप जांगीड ने स्वयं एक महिला बन कर वॉटसअप पर चैटिंग की, जिनकी ऑडियो रिकोर्डिंगें, उसने ‘अपना टाईम आयेगा 2023’ ग्रुप में गांव के ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ कर ऑडियो रिकोर्डिगों को ग्रुप में भिजवा कर बदनाम करने की साजिश की, ताकि अपनी बेइज्जती का बदला ले सके। इसमें मृतक नवरतन जांगीड की 35 ऑडियो रिकोर्डिंगें भेजी गई थी। इनको मृतक के बड़े भाई नन्दलाल को बैंगलोर जाते समय उसके वॉटसअप पर भी भिजवा दी। जिस पर उसने अपने भाई मृतक नवरतन जांगीड से इस बारे में बात की। उसने परेशान होकर फोन कट कर दी। अपने परिवार व गांव में तथा आसपास में बदनामी हो जाने पर वह काफी तनाव में आ गया। इसी से आहत होकर उसने ट्रेन से कट कर जान दे दी।

जांच में सबसे अहम् रहेंगे मोबाइल कॉल रिकॉर्ड

इस प्रकरण की जांच में मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी की भूमिका जताई जाने के बाद पुलिस ने हर पहलु से मामले की जांच की गई। इस जांच में अन्य बिन्दुओं के साथ मोबाइलों की कॉल डिटेल और रिकॉर्डिंगों का सहयोग सबसे अहम रहा। मृतक नवरत्न की पत्नी संजू के मोबाईल में उपयोग की जा रही सिम से आरोपी रामस्वरूप जांगीड पुत्र भागीरथ निवासी सींवां से आपस में कुल 4042 कॉल होना पाई गई, जिनमें से 1866 कॉल इनकमिगं व 1913 कॉल आउटगोईंग तथा 244 मैसेज इनकमिंग व 19 मैसेज आउट गोइंग मिले। प्रतिदिन औसतन 11 कॉल हुई , जिसमें 739 घन्टा 59 मिनट 53 सैकेण्ड दोनों में आपस में वार्ता हुई।
21 जुलाई की रात्रि में मृतक की पत्नी संजू के तथा संदिग्ध रामस्वरूप जांगीड के बीच आपस में कुल 2721 सैकेण्ड वार्ता होना मिली। इस संदिग्ध मुकेश जांगीड के मोबाईल से आरोपी रामस्वरूप जांगी के मोबाईल पर दिनांक 28 व 29 जुलाई को कुल 1277 कॉल, जिनमें से 538 कॉल इनकमिंग व 525 कॉल आउट गोईगं व 44 मैसेज इनकमिंग व 170 मैसेज आउट गोईग होना पाये गये। गौरतलब है कि मुकेश जांगीड द्वारा ही एक ग्रुप ‘अपना टाईम आयेगा 2023’ के नाम से बनाया गया था, जिसमें 19 जुलाई को एक साथ 20 व जिसके पश्चात 61 सदस्य साथ में जोड़े गए और इसी एक नम्बर से 14 ऑडियो रिकोर्डिंग ग्रुप में भेजे गए, जिन्हें बाद में डिलीट कर उस मोबाइल नम्बर को ग्रुप से रिमूव कर दिया गया। यह सब सूत्र जांच कार्य में सबसे अहम माने जा रहे हैं।

kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy