Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

Rajasthan Exit Polls 2023 : राजस्थान में सियासी रिवाज बरकरार रहने के आसार, BJP को मिल सकता है राज,  राजस्थान चुनाव को राजनीतिक गलियारों में राज (सरकार) और ‘रिवाज’ बदलने की लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है.

Rajasthan Exit Polls 2023 :

राजस्थान में सियासी रिवाज बरकरार रहने के आसार, BJP को मिल सकता है राज, 

राजस्थान चुनाव को राजनीतिक गलियारों में राज (सरकार) और ‘रिवाज’ बदलने की लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है.

नई दिल्ली: राजस्थान में 199 सीटों पर हुए विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल (Rajasthan Exit Poll) के आंकड़ों के मुताबिक, प्रदेश में हर पांच साल में सत्ता बदलने की सियासी रिवाज बरकरार रह सकती है. 10 एग्जिट पोल में से छह के आकंड़ो में भाजपा (BJP) को स्पष्ट बहुमत मिलता हुआ दिख रहा है. तीन एग्जिट पोल ने दोबारा से कांग्रेस (Congress) की सरकार बनते हुए दिखाया है. वहीं, एक एग्जिट पोल में भाजपा और कांग्रेस में कड़ी टक्कर दिखाई गई है.

Rajasthan Exit Poll Results 2023 के आंकड़े :-

– Dainik Bhaskar के एग्जिट पोल ने भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिलते हुए दिखाया है, जिसके मुताबिक, BJP को 98 से 105 और कांग्रेस को 85 से 95 सीटें मिल सकती हैं.
– Jan ki Baat एग्जिट पोल ने भी भाजपा को 100 से 122 सीटों के साथ बहुमत मिलने के आसार जताए हैं. वहीं, कांग्रेस के खाते में 62 से 85 सीटें आ सकती हैं.
– P-MARQ एग्जिट पोल ने भी 105 से 125 सीटों के साथ भाजपा को स्पष्ट बहुमत दिखाया है. कांग्रेस को 69 से 91 सीटें मिलने के आसार जताया है.
– Times Now-ETG एग्जिट पोल : कांग्रेस को पछाड़ते हुए भाजपा के हिस्से में 108 से 128 सीटें, जबकि कांग्रेस को सिर्फ 56-72 सीटों के ही संतोष करना पड़ सकता है.
– Republic TV- Matrize एग्जिट पोल : भाजपा को 115 से 130 सीटें और कांग्रेस को 65 से 75 सीटें मिल सकती हैं.
– ABP News – C Voter एग्जिट पोल : भाजपा को 94 से 114 और कांग्रेस को 71 से 91 सीटें मिलने के आसार
– India TV-CNX एग्जिट पोल ने कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिलते हुए दिखाया है. इसके मुताबिक, कांग्रेस को 94 से 104 और भाजपा को 80 से 90 सीटें मिल सकती हैं.
– India Today- Axis My India एग्जिट पोल : भाजपा को 80 से 100 और कांग्रेस को मिल सकती हैं 86 से 106 सीटें
– TV9 Bharatvarsh – Polstrat एग्जिट पोल : भाजपा के खाते में 100 से 110 और कांग्रेस को मिल सकती हैं 90 से 100 सीटें
– News24-Today’s Chanakya एग्जिट पोल के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी को 101 सीटों के साथ स्पष्ट बहुमत मिलने के आसार हैं. वहीं, भाजपा के खाते में 89 सीटें जा सकती हैं. 9 सीटें अन्यों के खाते में जाने का अनुमान है.

सियासी रिवाज बरकार रहने के आसार

राजस्थान चुनाव को राजनीतिक गलियारों में राज (सरकार) और ‘रिवाज’ बदलने की लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है. बीते कुछ दशकों में, परंपरागत रूप से राज्य में हर विधानसभा चुनाव में राज यानी सरकार बदल जाती है… एक बार कांग्रेस एक बार भाजपा। भाजपा को बाकी बातों के अलावा इस ‘रिवाज’ से बड़ी उम्मीद है जबकि सत्तारूढ़ कांग्रेस उम्मीद कर रही है कि इस बार यह ‘रिवाज’ बदलेगा और दोबारा उसकी सरकार बनेगी।

अगर एग्जिट पोल के मुताबिक चुनाव के नतीजे आते हैं तो ‘ सियासी रिवाज’ बरकार रहने के आसार दिख रहे हैं. छह में से चार एग्जिट पोल के नतीजों में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिलता हुआ दिख रहा है.

कितनी फीसदी हुआ मतदान

राजस्थान में इस बार हुए विधानसभा चुनाव में 2018 की तुलना में ज्यादा मतदान हुआ है. इस वर्ष प्रदेश में 75.45 फीसदी मतदान हुआ। 2023 के विधानसभा चुनाव में पिछली बार की तुलना में 0.73 प्रतिशत अधिक मतदान हुआ. इसमें डाक मत पत्रों के जरिए हुआ 0.83 प्रतिशत मतदान भी शामिल है. राजस्थान में 25 नवंबर को 200 में से 199 विधानसभा क्षेत्रों के 51000 से ज्यादा मतदान केंद्रों पर मतदान हुआ था. कांग्रेस प्रत्याशी के निधन के कारण श्रीगंगानगर जिले के करणपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव स्थगित कर दिया गया था.

कांग्रेस-भाजपा के 40 बागी भी मैदान में

राजस्थान में कांग्रेस और भाजपा के अलावा माकपा, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, भारत आदिवासी पार्टी, भारतीय ट्राइबल पार्टी, आम आदमी पार्टी, एआईएमआईएम समेत कई पार्टियां भी मैदान में हैं. भाजपा और कांग्रेस, दोनों के 40 से अधिक बागी भी मैदान में हैं.

पिछली बार किसको मिली थी कितनी सीटें :-

2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 200 में से 100 सीटें मिली थी, एक सीट कांग्रेस की सहयोगी पार्टी आरएलडी के खाते में गई थी. वहीं, भाजपा को 73 सीटें मिली थी. इसके अलावा मायावती के नेतृत्व वाली बहुजन समाज पार्टी भी 6 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. अन्यों की बात करें तो वे 20 सीटों पर जीतने में कामयाब रहे थे.

kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

प्रदेश का सबसे शोषित वर्ग है पत्रकार, सरकार की पूरी उपेक्षा का है शिकार, अधिस्वीकरण पर पैसे वालों का अधिकार, सब सुविधाओं से वंचित हैं सात हजार पत्रकार, आईएफडब्ल्यूजे के प्रदेशाध्यक्ष उपेन्द्र सिंह ने बयां की हकीकत 

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy