Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

लाडनूं विधायक ने मारी पलटी, अब डीडवाना की जगह सुजला जिला बनाने की सिफारिश की, विधायक के दो-दो पत्र वायरल, क्षेत्र में पनपे भारी विरोध को देखते हुए बदला निर्णय, सुजानगढ को मुख्यालय बनाने से लाडनूं को उठानी होगी क्या-क्या हानियां, आखिर क्यों नहीं बने जिला मुख्यालय लाडनूं?

लाडनूं विधायक ने मारी पलटी, अब डीडवाना की जगह सुजला जिला बनाने की सिफारिश की,

विधायक के दो-दो पत्र वायरल, क्षेत्र में पनपे भारी विरोध को देखते हुए बदला निर्णय,

सुजानगढ को मुख्यालय बनाने से लाडनूं को उठानी होगी क्या-क्या हानियां, आखिर क्यों नहीं बने जिला मुख्यालय लाडनूं?

लाडनूं। मुख्यमंत्री द्वारा 19 नए जिलों के बनाने की घोषणा के बाद से ही इस क्षेत्र में काफी तेज हलचल मची हुई है। सुजानगढ को जिला बनाने की मांग को लेकर कहीं विरोध हो रहा है, तो कहीं सुजला क्षेत्र को और कहीं लाडनूं को जिला बनाने की मांग उठाई जा रही है। इस सबके बीच विधायक मुकेश भाकर के दो पत्र वायरल हो रहे हैं। डीडवाना-कुचामन को जिला बनाने की घोषणा के साथ ही उनका एक पत्र वायरल हुआ, जिसमें उन्होंने डीडवाना को जिला बनाने का समर्थन किया था। इसके बाद सुजानगढ विधायक मनोज मेघवाल ने सुजानगढ को जिला नहंी बनाए जाने का ठीकरा उनके सिर फोड़ते हुए अपना वीडियो वायरल करके बताया कि लाडनूं विधायक मुकेश भाकर द्वारा सुजानगढ के बजाए डीडवाना में लाडनूं को शामिल करने की बात कह कर सुजानगढ को अकेला छोड़ दिया। इससे सुजानगढ के आंदोलनरत लोगों ने लाडनूं व जसवंतगढ पहुंच कर लाडनूं विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके बाद अब लाडनूं विधायक ने फिर पलटी मार ली है। उन्होंने अपना एक और पत्र वायरल किया है, जिसमें उन्होंने सुजला क्षेत्र को जिला मुख्यालय बनाने की मांग की है। मुख्यमंत्री को लिखे गए इस पत्र में उन्होंने बताया है कि लम्बे समय से सुजला को जिला बनाए जाने की मांग उठ रही थी। इसलिए लाडनूं व सुजानगढ के निवासियों की भावनाओं तथा यहां की भौगोलिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए सुजानगढ व लाडनूं को जोड़ कर सुजला जिला बनाया जाए।

कुचामन को लेकर सशंकित हैं लोग

लाडनूं शहर के आम लोग इस बात से सशंकित हैं कि कहीं कुचामन सिटी को जिला मुख्यालय बना दिया गया तो मुश्किल हो जाएगी, इससे तो नागौर ही बेहतर था। कुचामन का आवागमन बहुत मुश्किल रहेगा। डीडवाना को मुख्यालय बनाने तक तो ठीक बताया जा रहा है। नजदीक के शहर सुजानगढ के लोग सुजानगढ को जिला बनाने की मांग कर रहे थे, जिसे उपेक्षित किए जाने को लेकर वहां के लोग राज्य सरकार के प्रति आक्रोशित हैं और लगातार धरना-प्रदर्शन पर अड़े हुए हैं। इधर लाडनूं के लोग सुजानगढ के बजाए सुजला क्षेत्र को जिला बनाने और लाडनूं व सुजानगढ के बीच के जसवंतगढ क्षेत्र में पड़े विशाल सरकारी भूभाग को जिला मुख्यालय के रूप में विभिन्न कार्यालयों के लिए देख रहे हैं, लेकिन सुजानगढ के लोगों ने सुजानगढ के पास ठरड़ा में जिला मुख्यालय बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है। इसी कारण लाडनूं का समर्थन सुजानगढ को जिला बनाने के लिए नहीं मिल पा रहा है। इधर लाडनूं जिला बनाओ संघर्ष समिति ने लाडनूं को जिला बनाने की मुहिम छेड़ रखी है।

लाडनूं को पिछड़ा बनाने की साजिश

लाडनूं के लोग सुजानगढ को जिला मुख्यालय बनाए जाने के भी विरोधी हैं, क्योंकि सुजानगढ के नेताओं और संगठनों के प्रतिनिधियों की कारस्तानियां लम्बे समय से लाडनूं को सुजानगढ का पिछलग्गू बनाने की रही है। इसी कारण वे सदैव लाडनूं का केवल उपयोग करते रहे हैं। यहां की जमीन, प्रशासन, पुलिस, व्यापार आदि सभी का तो उपयोग धड़ल्ले से किया ही है, साथ ही यहां के कुछ मुखर लोगों तक को बहला-फुसला कर अपनी मांग के समर्थन में खउ़ा कर लेते हैं। यहां के लोगों का कहना है कि सुजानगढ को जिला मुख्यालय बनाने पर लाडनूं का पुलिस उप अधीक्षक कार्यालय व एडीजे कोर्ट बंद हो जाएगा। यहां की राजकीय महिला महाविद्यालय को सुजानगढ के कन्या काॅलेज में विलीन करना पड़ेगा। लाडनूं व सुजानगढ की दूरी मात्र 10-12 किमी ही है। ऐसे में जिला बनने पर इतनी कम दूरी में दो-दो डीएसपी कार्यालय और दो-दो एडीजे कोर्ट संभव नहीं रहेंगे और लाडनूं क्षेत्र के इन कार्यालयों को बंद करना पड़ेगा। इसी प्रकार सरकारी महिला काॅलेज भी इतनी कम दूरी पर एक साथ सरकार नहीं रखेगी और फलतः लाडनूं के काॅलेज को बंद करवा दिया जाएगा। लाडनूं में प्रस्तावित कृषि उपज मंडी भी सुजानगढ के जिला मुख्यालय होने के बाद मात्र 10-15 किमी की दूरी पर होने से उसका चेप्टर सदा के लिए बंद हो जाएगा। इसी कारण लाडनूं के लोग लाडनूं में जिला मुख्यालय बना कर इन सब कार्यालयों को लाडनूं में यथावत रखना चाहते हैं। यहां का व्यापार भी जिला मुख्यालय बनने पर प्रभावित होगा।

kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy