Search
Close this search box.

Download App from

Follow us on

प्राईवेट अस्पतालों से बिना नर्सिंग डिग्री के काम कर रहे कार्मिकों को हटाने की मांग, नर्सिंग एसोसिएशन ने दिया एसडीएम को ज्ञापन, सभी निजी अस्पतालों का सर्वे करवाया जाए

प्राईवेट अस्पतालों से बिना नर्सिंग डिग्री के काम कर रहे कार्मिकों को हटाने की मांग,

नर्सिंग एसोसिएशन ने दिया एसडीएम को ज्ञापन, सभी निजी अस्पतालों का सर्वे करवाया जाए

मकराना (कलम कला न्यूज)। मकराना नर्सिंग एसोसिएशन के तत्वावधान में नर्सिंग डिग्री धारी युवाओं ने यहां उपखण्ड अधिकारी जेपी बैरवा को ज्ञापन सौंपकर उपखण्ड क्षेत्र के निजी अस्पतालों में कार्यरत स्टॉफ की शैक्षिक योग्यता की जांच करवाने एवं बगैर नर्सिंग डिग्री के नर्सिेग कार्य कर रहे कर्मचारियों को हटाते हुए उनसे नर्सिंग कार्य नहीं लेने हेतु निजी अस्पतालों को पाबंद करने का आग्रह किया है। उन्होंने नोन डिग्री नर्सिंग स्टाफ पर कार्रवाई एवं निजी अस्पतालों की व्यवस्था में सुधार की मांग भी की है।

प्राईवेट चिकित्सालयों से नोन डिग्री नर्सिंग स्टाफ को हटाया जाए

नर्स अमित राजपुरोहित ने बताया कि मकराना के कई निजी अस्पतालों में केवल अनुभव के आधार पर नोन डिग्री नर्सिंग कर्मचारी काम कर रहे हैं, जो कि सरासर गलत व मरीजों के साथ अन्याय है। अस्पतालों में नर्सिंग स्टाफ से योग्यता के अनुसार काम करवाया जाना चाहिए और नोन डिग्री नर्सिंग स्टाफ को हटाया जाना चाहिए। ताकि रोगियों के जीवन के साथ खिलवाड़ नहीं होने पाए। उन्होंने इसके लिए सर्वे करके सभी नोन डिग्री नर्सिंग स्टाफ को निजी अस्पतालों से बाहर निकलवाने, डिग्री धारी नर्सिंग स्टाफ का न्यूनतम वेतन 20 हजार रूपए करने, ड्यूटी नॉर्मस के अनुसार अस्पतालों को नर्सिंग स्टाफ की ड्यूटी लगाने तथा जिन अस्पतालों के पास जितने बैड हैं, उसके मापदण्ड के अनुसार ही नर्सिंग स्टाफ की उपलब्धता रखने हेतु उन्हें पाबंद करने का आग्रह ज्ञापन देकर एसडीएम से किया गया है।

फर्जी डिग्रियां दिखाई जाती है

उन्होंने एसडीएम को यह भी बताया कि कुछ निजी अस्पतालों में फोर्मेलिटी के लिए कुछ नर्सिंग कर्मचारियों की डिग्रियां लगी हुई है, परंतु वास्तविकता यह है कि उन डिग्रीधारी के स्थान पर नोन डिग्री नर्सिंग स्टाफ ही काम कर रहे हैं। यह सब वहां भर्ती मरीजों की जान को खतरा खड़ा कर रहा है। नर्सिंग एसोसिएशन सदस्यों ने आग्रह किया कि अगर कोई निजी अस्पताल इन बातों पर ध्यान नहीं देता है, तो उनकी मान्यता रद्द करवाकर उसे राज्य सरकार की ओर से दी जा रही सभी सुविधाओं से मुक्त करवाएं। इस दौरान अमित, राकेश, पूनम, अयूब, करीम, शाकिब, किस्तूर, धीरज सांखला, मुकेश राड, प्रदीप, आफरीन, पिंटू जैक्सन, हुसैन, विकास सांखला, आनंद राजपुरोहित, शाहनवाज, अजीज आदि नर्सिंग सदस्य मौजूद थे।

kalamkala
Author: kalamkala

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

error: Content is protected !!

We use cookies to give you the best experience. Our Policy